बिक्रम मजीठिया की बेल रद्द, अलका लांबा ने दी पंजाब के लोगों और सरकार को बधाई

0

पंजाब विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र सभी सियासी पार्टियां चुनावी तैयारियों में जुटी हुई हैं। वहीं बिक्रम सिंह मजीठिया की वजह शिरोमणि अकाली दल की सियासी ज़मीन खिसकती हुई नज़र आ रही है। पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट से शिअद नेता बिक्रम सिंह मजीठिया की बेल खारिज कर दी गई है।

चुनाव प्रचार के दौरान विपक्षी दल लगातार ड्रग्स मामले में शिरोमणि अकाली दल पर हमलावर है। पंजाब में ड्रग्स का मुद्दा चुनावी मुद्दा प्रमुख चुनावी मुद्दे में से एक है। यही वजह है कि बिक्रम सिंह मजीठिया के ड्रग्म केस में फंसने के बाद विपक्षी दलों ने शिअद के खिलाफ़ इसे चुनावी हथियार बना लिया है। चुनाव से ठीक पहले शिरोमणि अकाली दल को बिक्रम सिंह मजीठिया पर केस दर्ज होने से बड़ा झटका लगा है। शिरोमणि अकाली दल का काफ़ी जनाधार खिसक चुका है।

बिक्रम मजीठिया की हाइकोर्ट ने रद्द की बेल

कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता अलका लांबा ने भी शिरोमणि अकाली दल पर जमकर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि बिक्रम सिंब मजीठिया का बेल ख़ारिज होने पर पंजाब के सभी लोगों को और कांग्रेस सरकार के साथ उनके मुखिया सीएम चरणजीत सिंह चन्नी को बधाई देती हूं।

सीएम चन्नी ने हिम्मत दिखाते हुए मजीठिया के खिलाफ कार्रवाई की। बिक्रम सिंह मजीठिया बेल के लिए इधर-उधर भागते रहे, जब तक कांग्रेस की सरकार रही हमने बेल नहीं होने दी। आचार संहिता लागू होने के बाद सरकार की शक्तियां कम हुईँ, बिक्रम सिंह मजीठिया को भाजपा की मदद से बेल मिल गई। आज हाईकोर्ट ने उस बेल को रद्द कर दिया है। अलका लांबा ने कहा कि हमने कहा था बेल हुई है, जेल भी होगी इसे कांग्रेस सुनिश्चित करेगी। हमारा वकीलों ने पंजाब के नशा माफियाओं के खिलाफ़ इस लड़ाई को मज़बूती से लड़ा और ये जीत हासिल की है।

 

News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here