पंजाब: धान की सीधी बिजाई करने पर 1500 रुपए प्रति एकड़ देने के फैसले को कैबिनेट की मंजूरी

0

पंजाब कैबिनेट ने डीएसआर तकनीक (धान की सीधी बिजाई) अपनाने वाले किसानों को प्रति एकड़ 1500 रुपए देने के फैसले को मंजूरी दे दी है। मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से बताया गया है कि सीएम भगवंत मान की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट ने प्रस्ताव को मंजूरी दी है। इसके लिए 450 करोड़ रुपये की प्रोत्साहन राशि अलग से रखी गई है।

पंजाब कैबिनेट ने शहीद सैनिकों के परिवारों को मिलने वाली आर्थिक मदद को 50 लाख रुपए से बढ़ाकर 1 करोड़ करने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी है। साथ ही कैबिनेट ने भूमि के बदले नकद की दरों में 40 फीसदी की वृद्धि और विशिष्ट सेवा पुरस्कार विजेताओं को नकद पुरस्कार को भी मंजूरी दी है।

डीएसआर तकनीक से बचेगा पानी

डीएसआर (डायरेक्ट सीडिंग ऑफ राइस) तकनीक पर पंजाब सरकार काफी जोर दे रही है। इसमें धान की सीधी बिजाई की जाती है। परंपरागत तरीके से चावल उगाने का तरीका ये है कि पहले धान का बीज बोया जाता है। 25-35 दिनों के बाद इन पौधों को उखाड़ कर पानी भरे खेत में बो दिया जाता है। वहीं डीएसआर में बीज से नर्सरी तैयार कर रोपाई के बजाय सीधे खेत में बोया जाता है।

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने बीते महीने, अप्रैल में धान की सीधी बिजाई करने वाले किसान को 1500 रुपए प्रति एकड़ सहायता देने का ऐलान किया था। इस योजना के तहत अगर कोई किसान एक एकड़ में धान की सीधी बिजाई करेगा तो उसे 1500 रुपए राज्य सरकार की ओर से मिलेंगे। पंजाब सरकार का कहना है कि राज्य में पानी का स्तर लगातार नीचे जा रहा है। ऐसे में धान की सीधी बिजाई एक विकल्प है, जिसमें कम पानी खर्च होगा। पंजाब सीएम भगवंत मान ने किसानों से अपील की है कि वो धान की सीधी बिजाई करें, जिससे पानी बच सके।

News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here