तहसील में चलता हैं गैर क़ानूनी प्रॉपर्टी को लीगल करने का धंधा, उच्च अधिकारी भी शामिल, पढ़े पूरी खबर

0

तहसील में सरकार के हुक्मो की उलघना जमकर कर रहे है. तहसील मैं बैठे उच्च अधिकारी सूत्रों के अनुसार मिली जानकरी में पता लगा है की तेहसील मैं बैठे अधिकारी सरकार को कैसे लगा रहे है चुना.

बता दे की तहसील मैं कैसे होती है रिश्वत खोरी मिली जानकारी के अनुसार पता लगा है की गैर कानूनी कॉलोनीयो में प्लाट की रजस्ट्री को लेकर किसी भी तरह की कोई भी कॉलोनी पास हो या न हो किसी भी तरह के प्लाट की NOC की जरूरत नहीं. 10000 की रिश्वत दो और रजस्ट्री करवालो इसमें 4 लाख 99 हजार की रजिस्ट्री करवाने पर तेहसीलदर के 2 हजार की रिश्वत बंधी हुई है.

5 लाख 1000 रुपए पर यह दूगनी हो जाती है अर्जी नविशो से लेकर उच्च अधिकारियों तक सब जम के आम जनता की जेब काट रहे है और सरकार को बेखौफ बिना किसी डर से लगा रहे है सरकार को जमकर चुना लगा रहे हैं.

500 नहीं. अब 1000 लगेंगे। … रिस्क भी तो बढ़ गया है।

गैर कानूनी कॉलोनी काटने वालों के साथ उच्च अधिकारियों की सेटिंग मिडल पर्सन करवाते है. सेटिंग अगर कोई बिना रिश्वत के रजस्ट्री करवाता है तो अफसर शाही आम जनता से सवाल जवाब करते है जिसके डर से आम जनता रिश्वत देने के लिए मजबूर हो जाती है. रिश्वत लेने के लिए बिच मैं प्राइवेट एजेंट रखे हुए है. शाम को काम खतम होने के बाद बड़े बड़े होटलो मैं रूम बुक करवाकर हसाब किया जाता है और अपना अपना हिंसा है बाँट कर आम जनता को और सरकार को चुना लगाकर चलते बनते है.

हम सरकार से अपील करते है की इन रिश्वत खोरो के ऊपर ईडी और विजिलेंस के अधिकारियों से संपर्क करके जल्द से जल्द कड़ी कानूनी करवाई की जाए. ताकि आम आदमी इस रिश्वत खोरो के चकर मैं न पड़ सके और आम गरीब जनता इन उच्च अधिकारियों और गैर कानूनी कॉलोनियां काटने वालो से बच सके.

News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here