अब दूरबीन से हड्डी की बीमारी होगी ठीक, जालंधर में हाथ व बाजू का पहला सुपरस्पेशलिस्टी अस्पताल, पढ़े

0

Ww City live News : जालंधर पंजाब का पहला ऐसा जिला बन गया है.. जहां पर दूरबीन यानी आर्थोस्कॉपी से इलाज होगा। अभी तक यह इलाज सिर्फ देश के बड़े शहरों में ही रहा है। यानी अब बिना चीरफाड़ के हाथ की हड्डी की बीमारियों का इलाज होगा, जिससे आर्थो के क्षेत्र में एक नई क्रांति की शुरूआत होगी। हाथ की कलाई से लेकर उंगुलियों व ज्वाइंट्स में काफी संक्रमण से बीमारियां हो जाती है। गठिया रोग से भी ज्वाइंट काफी प्रभावित होते हैं। कई बार उंगुलियां टेडी हो जाती है।

रणजीत अस्पताल में डॉ. तरूणदीप सिंह पूणे में संचेती अस्पताल, जहांगीर अस्पताल, सियादरी अस्पताल से आर्थोस्कॉपी में माहरिता हासिल करने के बाद मरीजों को सेवाएं देंगे। डीएमसी लुधियाना से एमबीबीएस, अमृतसर से पीजी करने के बाद पीजीआई में काम करने के बाद डॉ. तरूणदीप मुंबई व पूणे चले गए जहां विष्व प्रसिद्ध डॉ अभिजीत वहेगोइन्कार से हैंड सर्जरी में माहिरता हासिल की। दुर्भघटना के बाद कई बार मरीजों की बाजू बिलकुल सो जाती है या काम करना बंद कर देती है, कटे हुए हाथों का इलाज, स्पोर्टस इंजरी (क्रिकेट खेलने के दौरान लगी चोट), हाथ व कलाई की हड्डी का टूटना, बाजू का सो जाने की बीमारियों में डॉ. तरूणदीप सिंह माहिर हैं।

वह इसमें से कई बीमारियों के इलाज के लिए आर्थोस्कॉपी का इस्तेमाल करने वाले पंजाब के पहले चिकित्सक होंगे। आर्थोस्कोपी में बिना चीरफाड़ के ही आप्रेशन किये जाएंगे क्योंकि इसमें दूरबीन का इस्तेमाल होगा। डॉ तरुणदीप सिंह ने घुटने और चूला बदलने की फेलोशिप मुंबई और जयपुर के प्रसिद्ध अस्पतालों से हासिल की। इन्होने अर्थरोस्कोपी और स्पोर्ट्स इंजरी में दूरबीन से की जाने वाली सर्जरी की फ़ेलोशिप दिल्ली से हासिल की है। मरीजों की जांच के लिए 12 दिसंबर को 10 बजे सुबह से रणजीत अस्पताल निकट पटेल चौक जालंधर में मुफ्त कैंप का आयोजन किया जाएगा। इसमें हड्डुडियों की जांच का टेस्ट फ्री किया जाएगा जबकि एक्सरे, लैब टेस्ट 50 फीसदी पर किये जाएंगे।

जिक्रोयग है कि रणजीत अस्पताल आयुष्मान भारत, सीजीएचएस (सेंट्रल गार्वमेंट हेल्थ स्कीम), जिप्सा (जनल इंश्योरेंस पब्लिक सेक्टर एसोसिएश), आरसीएफ यानी रेल कोच फैक्टरी, एफसीआई (फूड कारपोरेशन आफ इंडिया), हिमाचल के रिटायर सरकारी कर्मचारी व प्राइवेट इंश्योरेंस के तहत आने वाले मरीजों का भी इलाज करता है।

रणजीत अस्पताल विश्व प्रसिद्ध जहां पर खास तौर पर अभी तक सिर्फ छाती व फेफड़ों का इलाज करता आया था, लेकिन अब डॉ. तरूणदीप सिंह हैंड सर्जरी में माहिरता हासिल कर अपनी सेवाएं देनी शुरू कर दी है।

News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here