लगातार काम करने का नशा ? जान लें इसके नुकसान

0
WorkHolic
WorkHolic

Being Workaholic Is Not Healthy: काम करना और काम में बने रहना, बहुत ही अच्छी आदत है लेकिन अगर काम आपके ऊपर हावी होने लगे, तो यह सामान्य नहीं है. कई लोग अपने करियर में ऊपर जाने के लिए बहुत देर तक काम करते हैं और कभी बॉस (Boss) को न भी नहीं कहते हैं. वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो काम के बिना रह नहीं पाते हैं. जो बिना काम के नहीं रह पाते हैं या लगातार काम के बारे में सोचते हैं. वह वर्कहोलिक सिंड्रोम (Workaholic Syndrome) के शिकार होते हैं. TheLadders के लेख के अनुसार ये होते हैं लोगों के लक्षण.

फ्री टाइम में होती है उलझन

इनको रोज कुछ ना कुछ करने के लिए चाहिए होता है. अगर उनके पास काम नहीं होता है तो उनको दिक्कत होने लगती है. जो इस सिंड्रोम के शिकार हो जाते हैं उन्हें लगातार काम करने का नशा रहता है. उनके पास रोजाना टू डू लिस्ट अगर नहीं है तो उनको उलझन होने लगती है.

काम ही होता है सबकुछ

ऐसे लोगों के लिए यह मायने नहीं रखता है कि परिवार में कोई सेलिब्रेशन, त्यौहार या पार्टनर के साथ डिनर पर जाना है. यहां तक कि अपनी सेहत के साथ ही वह कंप्रोमाइज करते हैं. ऐसे लोग काम को सबसे पहले तवज्जो देते हैं.

हमेशा होते हैं हाज़िर

ऐसे लोग हमेशा अपने सहकर्मियों के लिए अवेलेबल रहते हैं. फिर चाहे उनकी छुट्टी का दिन ही क्यों ना हो और इनकी सबसे बड़ी समस्या यह होती है कि किसी काम के लिए अपने सहकर्मी या टीम पर भरोसा नहीं कर पाते. साथ ही जरूरत से ज्यादा माइक्रोमैनेज भी करने लगते हैं.

गलतियों को नहीं स्वीकार करना

जरूरत से ज्यादा काम करने वाले अक्सर गलती होने पर कोई ना कोई बहाना ढूंढ लेते हैं और अपने सिर पर कभी भी किसी गलती की जिम्मेदारी नहीं लेते हैं.

News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here