सर्दियों में नाक हो जाती है ठंडी, तो इन आसान उपायों से इससे छुटकारा पाएं

0

 

how to warm a cold nose: सर्दी में कुछ लोगों के हाथ, पैर और नाक का ज्लदी ठंडा हो जाना सामान्य बात है. हममें से कई लोग कभी न कभी इसका अनुभव किया ही है. कुछ लोगों को ज्यादा सर्दी लगती है. दरअसल, जब सर्दी बढ़ जाती है, तो ब्लड का सर्कुलेशन जरूरी अंगों की तरफ पहले होती है. इस प्रक्रिया में हाथ, पैर, नाक जैसे बाहरी अंगों में खून का सर्कुलेशन कम होने लगता है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि शरीर के जरूरी अंगों को गर्म रखना पहली प्राथमिकता होती है. यानी जब ज्यादा सर्दी होती है, तब ब्रेन, हार्ट लिवर, किडनी, आंत जैसे महत्वपूर्ण अंगों को गर्म रखने के लिए खून का बहाव उधर जाता होता है और बाहरी अंगों की तरफ कम होता है. इसलिए जिस व्यक्ति को सर्दी ज्यादा असर करता है, उसके साथ यही समस्या होती है. सर्दी आते ही उनकी नाक ठंडी होने लगती है. यहां तक कि कभी-कभी ऐसे व्यक्तियों की नाक ज्यादा ठंड होने पर सुन्न भी पड़ जाती है.

जिन लोगों को थॉयरायड, निमोनिया, डायबिटीज आदि की समस्या है, उन लोगों को नाक ठड होने की ज्यादा आशंका रहती है. आखिर वह कौन सी वजह है जिसके कारण कुछ व्यक्तियों की नाक सर्दी में ठंडी पड़ जाती है. आइए इसके बारे में विस्तार से जानते हैं.

नाक क्यों हो जाती है ठंडी 
हेल्थलाइन की खबर के मुताबिक नाक ठडी होने की कई वजह हो सकती है. सर्दी के मौसम में शरीर भीतर के अंगों के तापमान को बरकरार रखने के लिए कई चीजों में बदलाव करता है. अगर शरीर के सभी अंगों तक ब्लड सर्कुलेशन लगातार बना रहे तो सर्दी का सामान्य अहसास होता है लेकिन कुछ व्यक्तियों में ज्यादा सर्दी लगती है. इसका कारण है शरीर अपना तापमान हमेशा नियत रखने की कोशिश करता है. हेल्थलाइन की खबर के मुताबिक जब बाहर की सर्दी ज्यादा हो जाती है तो शरीर का पहला काम होता है शरीर के महत्वपूर्ण अंदरुनी अंगों को सर्दी के प्रकोप से बचाना. इसलिए महत्वपूर्ण अंगों में ब्लड सर्कुलेशन ज्यादा होने लगता है. दूसरी ओर शरीर के बाहरी अंगों जैसे कि हाथ, पैर, नाक आदि में ब्लड सर्कुलेशन कम होने लगता है. यही कारण है कि सर्दी में कुछ व्यक्तियों की नाक बहुत ज्यादा ठंड हो जाती है क्योंकि वहां तक ब्लड सर्कुलेशन घटने लगती है.

नाक गर्म कैसे रखें गर्म
गर्म पानी से सेंक लें. एक साफ कपड़े को गर्म पानी में भिंगोए. उसके बाद उसे निचोड़ कर इसे नाक पर सिंकाई करें. इसे तब तक सिंकाई करें, जब तक कि नाक गर्म न हो जाए.
पानी को इतना ही गर्म करें, जितना आप बर्दाश्त कर सके.
गर्म कॉफी, चाय, सूप आदि का सेवन करें. इससे आपका शरीर अंदर से गर्म रहेगा. यदि आप अंदर से ज्यादा गर्म रहेंगे तो स्किन में ब्लड सर्कुलेश सही रहेगा.
बाहर निकलते समय स्कार्फ का इस्तेमाल करें. जब भी बाहर निकलें, हमेशा कान को ढके रहे.
स्टीम भाप लेना भी फायदेमंद रहेगा. इससे ब्लड सर्कुलेशन बरकरार रहेगा.
गर्म सूप पीएं.
बाहर से आने के बाद या बाहर जाते समय गर्म पानी से नाक को साफ करें.

 

.

Source link

News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here