मोदी सरकार का ‘क्रांतिकारी’ डिजिटल हेल्थ कार्ड – जानिये क्या हैं इसके फ़ायदे और कैसे बनवा सकते है ये कार्ड

0
Ayushman Bharat Digital Mission

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन की शुरुआत की. इसके तहत अब भारत के नागरिकों को एक डिजिटल हेल्थ आईडी दिया जाएगा.ये एक डिजिटल हेल्थ कार्ड होगा जिसमें लोगों का हेल्थ रिकॉर्ड यानी स्वास्थ्य से संबंधित जानकारियां डिजिटली सुरक्षित रहेंगी.

ये एक यूनीक आईडी कार्ड होगा जिसमें आपकी बीमारी, इलाज और मेडिकल टेस्ट से जुड़ी सभी जानकारियां दर्ज होंगी.इसकी शुरुआत करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे स्वास्थ्य के क्षेत्र में क्रांतिकारी परिवर्तन लाने वाला बताया.

Prime Minister Narender Modi
Prime Minister Narender Modi

पीएम मोदी ने कहा, “बीते सात वर्षों में देश की स्वास्थ्य सुविधाओं को मजबूत करने का जो अभियान चल रहा है, वह आज से एक नए चरण में प्रवेश कर रहा है. आज एक ऐसे मिशन की शुरुआत हो रही है, जिसमें भारत की स्वास्थ्य सुविधाओं में क्रांतिकारी परिवर्तन लाने की बहुत बड़ी ताकत है.”

क्या है हेल्थ कार्ड

डिजिटल हेल्थ कार्ड एक तरह से आधार कार्ड की तरह होगा. इस कार्ड पर आपको 14 अंकों का एक नंबर मिलेग. इसी नंबर से स्वास्थ्य क्षेत्र में व्यक्ति की पहचान होगी. इसके ज़रिए किसी मरीज की मेडिकल हिस्ट्री का पता चल सकेगा.

ये एक तरह से आपकी स्वास्थ्य संबंधी जानकारियों का खाता है. इसमें स्वास्थ्य से जुड़ी कई जानकारियां दर्ज होंगी. जैसे किसी व्यक्ति की कौन-सी बीमारी का इलाज हुआ, किस अस्पताल में हुआ, क्या टेस्ट कराए गए, दवाइयां दी गईं, मरीज को कौन-कौन सी स्वास्थ्य समस्याएं हैं और क्या मरीज किसी स्वास्थ्य योजना से जुड़ा है आदि.

कैसे बनेगा कार्ड

ये आधार कार्ड या मोबाइल नंबर के ज़रिए बनाया जा सकता है.

हेल्थ कार्ड बनाने के लिए ndhm.gov.in वेबसाइट पर जाना होगा. वहां पर “हेल्थ आईडी” नाम से एक शीर्षक दिखेगा.
यहां आप इस सुविधा के बारे में और जानकारी प्राप्त कर सकते हैं और ‘क्रिएट हेल्थ आईडी’ विकल्प पर क्लिक कर कार्ड बनाने के लिए आगे बढ़ सकते हैं.

अगले वेबपेज पर आपको आधार के ज़रिए या मोबाइल फोन से हेल्थ कार्ड जनरेट करने का विकल्प मिलेगा. आधार नंबर या फोन नंबर डालने पर एक ओटीपी प्राप्त होगा. ओटीपी भरकर आपको इसे वेरिफाई करना होगा.

आपके सामने एक फॉर्म खुलेगा जिसमें आपको अपने प्रोफाइल के लिए एक फोटो, अपनी जन्म तिथि और पता समेत कुछ और जानकारियां देनी होंगी.

सारी जानकारियां भरते ही एक हेल्थ आर्डी कार्ड बनकर आ जाएगा जिसमें आपसे जुड़ी जानकारियां, फोटो और एक क्यूआर कोड होगा.

जो लोग हेल्थ कार्ड खुद से बनाने में सक्षम नहीं हैं वो सरकारी अस्पताल, कम्युनिटी हेल्थ सेंटर, हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में या नेशनल हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर रजिस्ट्री से जुड़े ऐसे हेल्थकेयर प्रोवाइडर से अपना हेल्थ कार्ड बनवा सकते हैं.

News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here