Anand Mahindra ने क्रिप्टोकरेंसी में किया निवेश? बिजनेस टाइकून ने बताई सच्चाई

0

Anand Mahindra invest in Crypto: निवेश की दुनिया में क्रिप्टोकरेंसी ने तहलका मचाया हुआ है. जिसे देखो उसकी जुबान पर क्रिप्टो (cryptocurrency) की चर्चा है. दुनिया में क्रिप्टो में सबसे ज्यादा निवेश (cryptocurrency investment) भारत में हो रहा है. क्रिप्टो के फैलते इस जाल में एक खबर यह है कि भारत के बिजनेस टाइकून आनंद महिंद्रा ने भी क्रिप्टोकरेंसी में निवेश किया है.

भारत के दिग्गज उद्योगपति आनंद महिंद्रा (Indian business tycoon Anand Mahindra) के बारे में मीडिया पर खबर तेजी से वायरल हो रही है कि उन्होंने क्रिप्टोकरेंसी में निवेश किया है. खबरों में बताया गया है कि आनंद महिंद्रा ने क्रिप्टो में निवेश करके कुछ ही समय में बड़ा मुनाफा कमाया है.

महिंद्रा ग्रुप (Mahindra Group) के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने इन खबरों को पूरी तरह से फर्जी बताया है. उनका कहना है कि उन्होंने क्रिप्टोकरेंसी में एक रुपया भी निवेश नहीं किया है.

आनंद महिंद्रा ने दावों को पूरी तरह से खारिज कर दिया है और लिखा है, “मुझे लोगों को जागरूक करने की जरूरत है कि यह पूरी तरह से मनगढ़ंत और धोखाधड़ी है.”

आनंद महिंद्रा (Anand Mahindra) ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर वायरल हो रही खबर के शेयर करते हुए इसे फेक न्यूज का नया स्तर बताया है.

उन्होंने ने कहा है कि इस तरह से फेक न्यूज फैला कर लोगों को भ्रमित करना एक गलत ट्रेंड है और यह देश के करोड़ों लोगों के साथ बहुत बड़ा धोखा है. उन्होंने इस चलन को बहुत ही खतरनाक बताया है.

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही खबर में बताया गया है कि आनंद महिंद्रा ने ऑटो ट्रेडिंग प्रोग्राम बिटक्वाइन एरा नाम की क्रिप्टो करेंसी में निवेश किया है. इस निवेश से आनंद महिंद्रा ने ऑटो पायलट मोड में लाखों डॉलर कमाए हैं.

आनंद महिंद्रा ने फेक न्यूज (fake news) को टैग करते हुए लिखा है कि मुझे इस बारे में कुछ भी पता नहीं है. किसी व्यक्ति ने इस खबर को देखा तो उन्हें भेज दिया.

आनंद महिंद्रा लिखते हैं कि यह वास्तव में अनैतिक व्यवहार है. इस तरह की खबरें छाप कर लोगों को भ्रमित किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि क्रिप्टोकरेंसी में उन्होंने एक रुपये का भी निवेश नहीं किया है. उन्होंने कहा कि इस तरह की खबरों को गंभीरता से नहीं लेना चाहिए.

आनंद महिंद्रा ने ट्विटर पर लिखा, “विडंबना यह है कि मैंने क्रिप्टो में एक रुपया भी निवेश नहीं किया है.”

रिपोर्ट में बताया गया है कि बिटक्वाइन एरा नाम की क्रिप्टो करेंसी में निवेश कर कोई भी व्यक्ति तीन-चार महीने में लखपति बन सकता है.

ऐसा पहली बार नहीं है जब आनंद महिंद्रा के बारे में सोशल मीडिया पर कोई फर्जी खबर वायरल हुई हो, इससे पहले भी वह कई बार क्रिएटर्स के निशाने पर बनते रहे हैं. इस साल सितंबर में उन्हें एक पोस्ट मिली जिसमें कहा गया था कि महिंद्रा मिडिल स्कूल शिक्षा में स्टॉक मार्केट ट्रेडिंग कोर्स का समर्थन कर रहा है.

.

.

Source link

News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here