पंजाब कैबिनेट के सभी मंत्री पहले दिन करतारपुर साहिब में टेकेंगे मत्था, CM चरणजीत सिंह चन्नी का ऐलान

0

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (Punjab CM Charanjit Singh Channi) ने घोषणा की है कि करतारपुर कॉरिडोर (Kartarpur Corridor) को फिर से खोलने के बाद पहले प्रतिनिधिमंडल के एक हिस्से के रूप में पूरा राज्य मंत्रिमंडल 18 नवंबर को करतारपुर साहिब (Sri Kartarpur Sahib) में मत्था टेकेगा. मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) ने मंगलवार को यह जानकारी दी.

सरकार ने करतारपुर साहिब गलियारा (Kartarpur Sahib Corridor) को बुधवार से दोबारा खोलने का फैसला किया है. केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को इसकी घोषणा की. करतारपुर गलियारा सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव (Guru Nanak Dev) के अंतिम विश्राम स्थल गुरुद्वारा दरबार साहिब, पाकिस्तान (Pakistan) को पंजाब के गुरदासपुर जिले में डेरा बाबा नानक गुरुद्वारा से जोड़ता है. कोविड-19 के प्रकोप के कारण करतारपुर साहिब गुरुद्वारे तक तीर्थयात्रा मार्च 2020 में निलंबित कर दी गई थी.

केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने क्या कहा

शाह ने करतारपुर कॉरिडोर को फिर खोले जाने के फैसले पर कहा कि यह गुरु नानक देव जी और सिख समुदाय के प्रति मोदी सरकार की अपार श्रद्धा को दर्शाता है. उन्होंने ट्वीट किया, “एक बड़ा फैसला जो लाखों सिख श्रद्धालुओं को लाभ पहुंचाएगा, नरेंद्र मोदी सरकार ने कल, 17 नवंबर से करतारपुर साहिब गलियारा को फिर से खोलने का निर्णय किया है.”

गृह मंत्री ने कहा, “यह फैसला गुरु नानक देव जी और सिख समुदाय के प्रति मोदी सरकार की अपार श्रद्धा को दर्शाता है.” गृह मंत्री ने कहा कि राष्ट्र 19 नवंबर को श्री गुरु नानक देव जी का प्रकाश उत्सव मनाने की तैयारी कर रहा है और उन्हें विश्वास है कि यह कदम “देश भर में खुशी और उत्साह को और बढ़ा देगा.”

News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here