जालंधर में गरीबों के सरदार हैं चौहान:घर में राशन आए-ना आए, जरुरतमंदों को देना नहीं भूलते

0

World wide city live : पंजाब के जालंधर शहर में एक चेहरा ऐसा भी है, जिसने अपना जीवन गरीबों और लड़कियों की शिक्षा को समर्पित कर दिया है। इस गुमनाम चेहरे का नाम है सरदार सिंह चौहान। रिटायरमेंट के बाद भी 73 साल की उम्र में जिस तरह से वह लड़कियों को अपने पांव पर खड़ा करने और गरीब लोगों के घर में हर महीने राशन पहुंचाने का काम कर रहे हैं, उससे चौहान गरीबों के सरदार हैं।

लड़कियों को ब्यूटीशियन से लेकर कम्प्यूटर कोर्स करवा रहे

सरदार सिंह चौहान अपने दोस्तों और परिवार के साथ मिलकर कन्या शिक्षा प्रसार संगठन के नाम से जालंधर में एक संस्था चलाते हैं। इस संस्था का उद्देश्य गरीब घरों की लड़कियां जिनके माता-पिता पढ़ा नहीं सकते उन्हें स्वावलंबी बनाना है। संस्था गरीब घरों की लड़कियों को सिलाई कढ़ाई के साथ-साथ ब्यूटीशियन और कम्प्यूटर के कोर्स मान्यता प्राप्त संस्थानों से करवाती है। यहां तक जो लड़कियां इंटेलिजेंट हैं, उन्हें शहर के एचएमवी जैसे नामी शिक्षण संस्थान में पढ़ाई भी करवाते हैं।

बैंक में नौकरी के दौरान दोस्त से मिली प्रेरणा

सरदार सिंह चौहान ने कहा कि वह स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से डिप्टी मैनेजर रिटायर हुए हैं। साल 1998 में उनकी जब कोटकपूरा से जालंधर इंडस्ट्रियल एरिया ब्रांच में ट्रांसफर हुई को वहां पर उनका एक दोस्त भी कार्यरत था। वह हर तीन महीने बाद स्कूली बच्चों की फीस भरता था। उनकी देखा देखी वह भी फीस के लिए पैसे देने लगे।

लड़कियों को इग्नोर होता देख पांव पर खड़ा करने का बीड़ा उठाया

कन्या शिक्षा प्रसार संस्था नामक संगठन चलाने का आइडिया उन्हें उस वक्त आया जब वह दोस्त के साथ बच्चों की स्कूलों में फीस भरते थे। इसी दौरान उन्हें एहसास हुआ कि लोग लड़कों को तो पढ़ाई में तरजीह देते हैं, लेकिन लड़कियों के इग्नोर करते हैं।

गरीबी में लोग लड़कों की फीस तो भरवा लेते थे और लड़कियों के प्रति उनकी विचारधारा थी कि चूल्हे चौके काम सीख जाएगी तो उसकी शादी कर देंगे। जिस गरीबी वह पली बढ़ी, उसी गरीबी में वह आगे भी अपना जीवन यापन करें। इससे वह बहुत आहत हुए और उन्होंने लड़कियों को शिक्षित कर अपने पांव पर खड़ा करने का बीड़ा उठाया। तब से वह इस कार्य में लगे हैं।

80 से 100 लड़कियों को दे रहे प्रोफेशनल ट्रेनिंग

सरदार सिंह चौहान ने बताया कि वह हर साल 80 से सौ गरीब लड़कियों को सिलाई कढ़ाई, कम्प्यूटर और ब्यूटीशियन का कोर्स करवाते हैं। कोर्स पूरा होने पर लड़कियों के सिलाई कढ़ाई वाली मशीनें और ब्यूटीशियन का कोर्स करने वाली लड़कियों के उनके काम की पूरी किट उपलब्ध करवाते हैं। ताकि वह कोर्स पूरा करने के बाद सामान के लिए इधर-उधर ना भटकें बल्कि संस्थान से निकल कर सीधे काम में लग जाएं और अपने परिवार का सहारा बनें।

News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here