गुजरात में गजब, हिमाचल से गायब; 5 साल मांगते-मांगते पहाड़ों से मुंह मोड़ गए अरविंद केजरीवाल

0

World wide City Live, नई दिल्ली (ब्यूरो) : आम आदमी पार्टी (AAP) के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल फिर गुजरात में हैं। वह तीन दिवसीय चुनावी अभियान में हिस्सा ले रहे हैं। खास बात है कि चुनावी समर शुरू होते हैं आप और केजरीवाल गुजरात में खासे सक्रिय हो गए थे। जबकि, हिमाचल प्रदेश अभी भी पार्टी के दिग्गजों की बाट जोह रहा है। हालांकि, कुछ समय पहले तक केजरीवाल पहाड़ी राज्य में काफी सक्रिय रहे, लेकिन अब उनका पूरा फोकस सिर्फ गुजरात पर नजर आ रहा है।

कहा जा रहा है कि 25 जुलाई को केजरीवाल और पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने साथ में वर्चुअल रैली की थी। इसके बाद से ही वह यहां नजर नहीं आए। खास बात है कि पार्टी काफी समय पहले ही राज्य में सक्रिय हो गई थी, लेकिन बाद में रफ्तार धीमी होती गई। अप्रैल में मंडी में केजरीवाल और मान ने ‘तिरंग यात्रा’ की थी। इसके दो दिन बाद ही पार्टी के तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष अनूप केसरी भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए थे।

आउटलुक से बातचीत में आप के शिमला में पूर्व प्रवक्ता गौरव शर्मा ने बताया, ‘मुझे नहीं लगता कि पार्टी को हिमाचल प्रदेश में खास दिलचस्पी है। फिलहाल, फोकस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के घर गुजरात पर ही है।’ उन्होंने हिमाचल प्रदेश की ‘देवभूमि’ में ‘धोखेबाजी’ के आरोप लगाकर पार्टी को अलविदा कह दिया था।

शर्मा ने कहा, ‘उन्होंने (आप नेताओं) टिकट बेचे, बहुत सारा रुपया जुटाया और दिल्ली वापस चले गए। उन्होंने देवभूमि को अपवित्र किया है। राज्य में जमे इनमें से अधिकांश लोग अब हमारा फोन भी नहीं उठा रहे हैं।’ रिपोर्ट के अनुसार, अंदरूनी सूत्रों के मानना है कि मंडी, हमीरपुर और कांगड़ा में रैली और रोड शो के जरिए मिली रफ्तार को आप ने खो दिया है। कई जगहों पर केजरीवाल को होर्डिंग और पोस्टर गायब हैं।

मांगते थे 5 साल
रैलियों के दौरान केजरीवाल लोगों से आप को वोट देने की अपील करते थे। उनका कहना था, ‘आपने राज्य पर शासन करने के लिए 30 साल कांग्रेस और 17 साल भाजपा को दिए, उन्होंने केवल लूट ही की। मुझे केवल पांच साल दे दीजिए।’ खबर है कि आप में शामिल हुए राज्य के कई बड़े नेता या तो पुराने दलों में लौट गए हैं या पार्टी गतिविधियों से दूर हैं।

गुजरात में ऐसे गजब
आप गुजरात में सूरत नगर निगम चुनाव के समय से ही काफी सक्रिय नजर आ रही है। साल 2021 में हुए चुनाव में पार्टी ने 27 सीटों पर जीत दर्ज की थी। हालांकि, खुशी ज्यादा समय तक नहीं रही और 5 पार्षद भाजपा के साथ हो लिए। बहरहाल, विधानसभा चुनाव का माहौल बनते ही केजरीवाल, मान समेत कई बड़े नेताओं की गुजरात में एंट्री हुई। गुरुवार से ही उन्होंने अभियान की शुरुआत की है। खबर है कि केजरीवाल और मान तीन दिनों के दौरान 6 कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे। इससे पहले भी वह गुजरात के कई हिस्सों में रैलियां कर चुके हैं।

एक ‘पहाड़’ छोड़ दूसरा ‘पहाड़’ पकड़ा
दो बड़े राज्यों में विधानसभा चुनाव के बीच MCD यानी म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन ऑफ दिल्ली चुनाव दस्तक देने वाले हैं। इस चुनाव में कचरे बड़ा मुद्दा नजर आ रहा है। गुजरात को केजरीवाल गाजीपुर लैंडफिल साइट पर पहुंचे और भाजपा पर निशाना साधा। पूर्वी दिल्ली में गुरुवार को उन्होंने ‘कचरे के पहाड़’ को लेकर भाजपा को घेरा था।

उन्होंने ट्वीट किया था, ‘पिछले 15 साल में BJP ने पूरी दिल्ली में कूड़ा-कूड़ा कर दिया है। आज इनके ग़ाज़ीपुर वाले कूड़े के पहाड़ को देखकर आया हूं। सभी दिल्लीवासियों से मेरी अपील है- इस बार नगर निगम चुनाव में दिल्ली की साफ़-सफ़ाई के लिए वोट देना है। हमें मिलकर दिल्ली को साफ़-स्वच्छ और सुंदर बनाना है।’

News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here