अमृतसर में बीएसएफ जवानों ने पाकिस्तानी ड्रोन एक बार फिर से मार गिराया

0

World wide City Live, जालंधर (आंचल) : गरदासपुर की बीओपी पहाड़ीपुर सीमा पर बहने वाली नदी के किनारे घूम रहे संदिग्ध तत्वों पर फायरिंग की। इस दौरान दूसरी ओर से भी जवानों पर गोलियां चलाईं गई। बाद में डीआइजी प्रभाकर जोशी ने रात में बॉर्डर की तलाशी ली।

जासं, अमृतसर। सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने पाकिस्तान के नापाक इरादों को एक बार फिर नेस्तनाबूद किया है। बीएसएफ के जवानों ने गांव – दाओके के पास पड़ने वाले क्षेत्र में पाकिस्तान से भारतीय क्षेत्र में प्रवेश कर रहे ड्रोन (क्वाडकाप्टर) को मार गिराने में सफलता प्राप्त की है। जवानों ने जैसे ही ड्रोन की आवाज सुनी, उस पर फायरिंग कर उसे रोकने की कोशिश की। गोलियां लगने से ड्रोन जमीन पर गिर पड़ा। बता दें कि पिछले कुछ दिनों से बीएसएफ को लगातार पाकिस्तान की ओर से भेजे गए ड्रोन मार गिराने में सफलता प्राप्त हो रही है।

चीन निर्मित है मार गिराया गया क्वाडकाप्टर 

ड्रोन मार गिराए जाने के बाद पूरे इलाके की घेराबंदी कर दी गई। इसके बाद, पुलिस और संबंधित एजेंसियों को सूचित कर दिया गया। यह ड्रोन क्वाडकाप्टर डीजेआई मैट्रिस 300 आरटीके (चीनी ड्रोन) है। अभी तक कोई संदिग्ध वस्तु नहीं मिली है। हलांकि यह आशंका जताई जा रही है कि ड्रोन के जरिए नशीले पदार्थ या हेरोइन की खेप सीमा के इस पार पहुंचाई गई है। बीएसएफ की ओर से फिलहाल मौके पर सर्च अभियान चलाया गया है। डीआइजी प्रभाकर जोशी स्वयं इसमें भाग ले रहे हैं।

डेरा बाबा नानक में नाइट विजन कैमरे में दिखे संदिग्धों पर फायरिंग

महेंद्र सिंह अर्लीभान, डेरा बाबा नानक (गुरदासपुर)। शुक्रवार की रात अंतरराष्ट्रीय सीमा पर तैनात बीएसएफ की 121 बटालियन के जवानों ने सेक्टर गरदासपुर की बीओपी पहाड़ीपुर सीमा पर बहने वाली नदी के किनारे घूम रहे संदिग्ध तत्वों पर फायरिंग की। इस दौरान दूसरी ओर से भी जवानों पर गोलियां चलाईं गई। उल्लेखनीय है कि सीमा पर घूम रहे संदिग्ध व्यक्ति नाइट विजन कैमरे में कैद हो गए थे

डीआइजी प्रभाकर जोशी ने कहा कि इसी रात गुरदासपुर सेक्टर की 73 बटालियन (अजनाला) बीओपी के जवानों ने सीमा पर उड़ रहे पाकिस्तानी ड्रोनों पर फायरिंग की और हल्के बम फेंककर उसे खदेड़ दिया गया

News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here