सोने को लेकर बड़ी खबर, अभी पढ़े पूरी खबर

0
Gold Import, Gold jewellery, gems and jewel, corona pandemic, सोने का आयात, आभूषण उद्योग
Gold Price in India

सोने को शुरू से ही निवेश के लिए एक बेहतर विकल्प माना जाता है। इसका असर देश के चालू खाते के घाटे पर भी पड़ता है. कोरोना काल में इसमें कई उतार-चढ़ाव आए। अप्रैल-जून 2021 तिमाही में आयात में जबरदस्त उछाल आया है। यह कई गुना बढ़कर 7.9 अरब डॉलर (58,572.99 करोड़ रुपये) हो गया है।

अप्रैल-जून 2021 तिमाही में सोने के आयात में जबरदस्त इजाफा हुआ है। इसका मुख्य कारण ज्वैलरी उद्योग की मांग को पूरा करना है।

वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक पिछले वित्त वर्ष में कोराना वायरस के प्रकोप के चलते देशभर में लगाई गई पाबंदियों के दौरान सोने का आयात 68.8 करोड़ डॉलर (5,208.41 करोड़ रुपये) तक गिर गया. अप्रैल-जून 2021 तिमाही में चांदी का आयात 93.7 प्रतिशत घटकर 394 मिलियन डॉलर रहा। लेकिन चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-जून के दौरान सोने के आयात में इस बढ़ोतरी से देश का व्यापार घाटा यानी आयात और निर्यात का अंतर बढ़कर करीब 31 अरब डॉलर हो गया है.

सालाना 800-900 टन सोना आयात

भारत को सोने का सबसे बड़ा आयातक माना जाता है। भारत सालाना 800-900 टन सोने का आयात करता है। यहां आयात मुख्य रूप से आभूषण उद्योग की मांग को पूरा करने के लिए किया जाता है। चालू वित्त वर्ष के पहले तीन महीनों के दौरान रत्न और आभूषण निर्यात बढ़कर 9.1 अरब डॉलर हो गया, जबकि पिछले साल की समान तिमाही में यह 2.7 अरब डॉलर था।

सोने की कीमत क्या है

सोना खरीदने का यह सबसे अच्छा समय है। सोने की कीमत में गिरावट जारी है। सोना 47526 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया। जानकारों के मुताबिक इस कीमती धातु की कीमत में गिरावट अस्थायी है। इसलिए निवेशकों को इसे एक अवसर के रूप में देखना चाहिए। सोने की कीमत जल्द ही उलट जाएगी और ट्रेंड रिवर्सल के बाद एक महीने में ₹48,500 प्रति 10 ग्राम तक पहुंच जाएगी।

News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar
News Website in Jalandhar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here